सिविल सेवा परीक्षा: एक संक्षिप्त परिचय

Spread the love

UPSC सिविल सेवा परीक्षा

योग्यता:-

  • कोई भी स्नातक उत्तीर्ण छात्र सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन कर सकता है | न्यूनतम प्राप्तांकों को लेकर कोई नियम अभी नहीं है |
  • आयु सीमा: अनारक्षित वर्ग हेतु 21 से 32 वर्ष जो कि परीक्षा वर्ष में 1 अगस्त को होनी चाहिए | अनारक्षित वर्ग के छात्र परीक्षा में छह बार बैठ सकते हैं |
  • उच्च आयु सीमा निम्न दशाओं में शिथिल होती है :-
    • अन्य पिछड़ा वर्ग(क्रीमी लेयर के अलावा ): 35 वर्ष, और 9 प्रयास
    • अनुसूचित जाति/जनजाति: 37 वर्ष, असीमित प्रयास

परीक्षा के चरण 

प्रारंभिक परीक्षा–> मुख्य परीक्षा–> व्यक्तित्व परीक्षण/साक्षात्कार 

प्रथम चरण-प्रारंभिक परीक्षा

  • बहुविकल्पीय प्रश्न
  • दो प्रश्नपत्र :
    • प्रथम प्रश्नपत्र: सामान्य अध्ययन
    • द्वितीय प्रश्नपत्र: अभिवृत्ति जो कि अहर्कारी है (33% अंक अनिवार्य )
  • प्रश्नपत्र हिंदी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में होगा |
  • प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने हेतु केवल सामान्य अध्ययन के अंक ही गिने जाते हैं | गलत उत्तर हेतु प्रश्न के अंक का १/३ ऋणात्मक अंक घटाए जाएँगे |
  • अगर आपने आवेदन किया है एवं प्रारंभिक परीक्षा में अनुपस्थित हैं तो प्रयास नहीं गिना जाएगा |
  • मुख्य परीक्षा में प्रवेश हेतु कम से कम २५% अंक आवश्यक हैं |

द्वितीय चरण-मुख्य परीक्षा 

  • प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण छात्रों को एक अलग आवेदन पत्र भरना है जिसे “विस्तृत आवेदन पत्र “-Detailed Application form (DAF) कहते हैं |
  • इस आवेदन पत्र में आपका वैकल्पिक विषय आपके प्रारंभिक परीक्षा के आवेदन पत्र से ले लिया जाता है, अतः आप इसे बदल नहीं सकते |
  • DAF के साथ आपको अपनी शैक्षिक पृष्ठभूमि, जाति और शारीरिक अक्षमता आदि से सम्बंधित प्रमाणपत्र भी देने होंगे |
  • मुख्य परीक्षा में नौ विवरणात्मक प्रश्नपत्र होंगे, जिसमे कि एक वैकल्पिक विषय(दो प्रश्नपत्रों का) भी सम्मिलित है |
  • इन नौ में से २ प्रश्नपत्र भाषा के होंगे : प्रथम अंग्रेजी का और द्वितीय आपकी पसंद की किसी भी भारतीय भाषा का | इन दोनों प्रश्नपत्रों में उत्तीर्ण होना आवश्यक है हालाँकि इनके प्राप्तांक अंतिम मेरिट सूची में नहीं जोड़े जाते |
  • सिविल सेवा परीक्षा का सबसे महत्त्वपूर्ण अंग बाकी के सात प्रश्पत्रों में है | प्रत्येक प्रश्नपत्र 250 अंकों का होता है | ये सात प्रश्नपत्र हैं :-
    •  निबंध
    • सामान्य अध्ययन -I (भारत की विरासत, संस्कृति, इतिहास एवं विश्व भूगोल और समाज)
    • सामान्य अध्ययन -II (प्रशासन, संविधान, राजव्यवस्था, सामाजिक न्याय एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध )
    • सामान्य अध्ययन -III (प्रोद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन)
    • सामान्य अध्ययन -IV(नीतिशास्त्र और अभिवृत्ति)
    • वैकल्पिक विषय -प्रश्नपत्र 1
    • वैकल्पिक विषय -प्रश्नपत्र 2
  • वैकल्पिक विषय का चयन कुल ४८ विषयों की सूची(२५ विषय एवं २३ भाषाओँ का साहित्य) से किया जा सकता है |

तृतीय चरण -साक्षात्कार/व्यक्तित्व परीक्षण

  • मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्र को साक्षात्कार में उपस्थिक होने का मौका मिलता है |
  • यह नई दिल्ली में होता है और इसमें विभिन्न बोर्ड, जिनकी अध्यक्षता  संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य और अध्यक्ष करते हैं, अभ्यर्थियों का परीक्षण करते हैं |
  • साक्षात्कार कुल 275 अंकों का होता है |

द्वितीय एवं तृतीय चरण के कुल प्राप्तांकों के आधार पर परीक्षा में रैंक निर्धारित होती है |

राज्य सिविल सेवाएँ(PCS परीक्षाएँ)

प्रारंभिक परीक्षा–> मुख्य परीक्षा–>साक्षात्कार

  • राज्यों की सिविल सेवा परीक्षाएँ भी संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा के प्रतिरूप का अनुगमन करती हैं |
  • पाठ्यक्रम का कुछ भाग(राज्य से सम्बंधित) अलग होता है लेकिन अधिकतर भाग समान होता है |अतः पाठ्य पुस्तकें भी समान होती हैं |
  • आम तौर पर प्रयासों की संख्या की कोई सीमा नहीं होती और अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष होती है | विभिन्न वर्गों हेतु आयु सीमा में छूट दी जाती है |

तैयारी शुरू कैसे करें :-

  1.  प्रथम चरण 
  • कक्षा 6 से 10 तक की इतिहास, भूगोल, नागरिकशास्त्र, पर्यावरण एवं अर्थशास्त्र की NCERT की पुस्तकें पढ़ें |
  • एक समाचारपत्र ठीक तरह से पढ़ें और उसके नोट्स बनायें | हिंदी के समाचारपत्रों में स्तरीय सामग्री नहीं मिल पाती है अतः “द हिन्दू” या “इण्डियन एक्सप्रेस” पढ़ें | आप हमारे संस्थान में समसामयिक घटनाक्रम की नियमित कक्षाएँ भी ले सकते हैं |
  • नियमित रूप से समयानुसार पढ़ें और दोहराएँ |
  • नियमित रूप से टेस्ट दें ताकि अपनी प्रगति का अंदाज़ा लगता रहे | हमारी वेबसाइट पर कई ऐसे टेस्ट निःशुल्क उपलब्ध हैं |

2. द्वितीय चरण 

  • पाठ्यक्रम पूरी तरह पढ़ें और निम्न पुस्तकों की सहायता से अध्ययन करें :-
    • इतिहास
      • प्राचीन: कक्षा 11 की पुरानी  NCERT(आर. एस. शर्मा )
      • मध्यकालीन: सतीश चन्द्र
      • आधुनिक : बिपन चन्द्र
      • विश्व इतिहास: हिंदी में बहुत कम अच्छी पुस्तकें उपलब्ध हैं | अंग्रेजी में NORMAN LOWE की पुस्तक बहुत अच्छी है |
    • भूगोल :-
    • राजव्यवस्था
      • लक्ष्मीकान्त
      • सरकारी नीतियां और योजनायें : भारत इयर बुक, समसामयिक घटनाक्रम के नोट्स
      • अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध एवं संगठन : कक्षा नोट्स
    • अर्थशास्त्र
    • विज्ञान
      • पर्यावरण : शंकर आईएएस के नोट्स
      • NCERT 6ठी से 10वीं कक्षा तक
    • समसामयिक घटनाक्रम
    • राज्य विशेष हेतु
      • राज्य हेतु कई सारी पुस्तकें आती हैं(परीक्षवाणी, घटनाचक्र आदि ) जिनसे कम समय में राज्य के विषय में पढ़ा जा सकता है |

किसी भी जानकारी/प्रश्न हेतु संपर्क करें: