UPPCS Mains- 2018 answer writing practice || UPPCS मुख्य परीक्षा – 2018 उत्तर लेखन अभ्यास #18

UPPCS Mains- 2018 answer writing practice

Discuss about the causes of earthquakes and their distribution across the world. Suggest remedial measures to mitigate the disaster risk of earthquakes. (200 words)
भूकंप के कारणों और विश्व में इनके वितरण पर चर्चा करें|  भूकंप के कारण आपदा के जोखिम को कम करने के लिए उपाय सुझाए|

An earthquake is the shaking of the surface of the Earth, resulting from the sudden release of energy in the Earth’s lithosphere that creates seismic waves.

Causes of Earthquakes

  • Tectonic Movements: Tectonic forces create tension and pressure and the stress begins to build up inside the earth. When the stress tends to be more than what the rocks of the earth can bear, the rocks are broken and displaced from their state of equilibrium.
  • Volcanic Eruptions: Sometimes the vent of a volcano is blocked temporarily and explosive eruption takes place suddenly causing tremors in the earth crust.
  • Other Reasons: The roofs of underground caves, nuclear explosions sometimes give way and release great force to cause minor tremors in the earth crust.

The earthquakes are concentrated in two main belts –

  • Circum-Pacific Earthquake Belt: This belt includes all the coastal areas around the vast Pacific Ocean. This zone accounts for 68% of all earthquakes on the surface of the earth.
  • Mediterranean-Asia Earthquake Belt: This belt begins from Alps mountain range and passes through Turkey, Caucasus Range, Iran, Iraq, Himalayan Mountains and Tibet to China. About 31% of world’s earthquakes are located in this region.
  • Other Areas: These include Northern Africa and Rift Valley areas of the Red Sea and the Dead Sea. In addition to these, the ocean ridges are also active earthquake zones.

Remedial measures to mitigate risk

  • It is necessary to predict their occurrence through early warning systems. Another way to lessen the impact of disaster is seismic risk assessment, which enables planners to recognize areas at risk of earthquakes and their effects.
  • Buildings in the earthquake prone areas should be made earthquake resistantwith strength, stiffness and inelastic deformation capacity.
  • Policy decisions about construction of structures with due approvalfrom specified authorities have to be taken.

भूकंप  भूसतह के कंपन को इंगित करता है,  जो कि  पृथ्वी के लिथोस्फीयर में अचानक ऊर्जा के  मुक्त होने से उत्पन्न होता है और भूकंपीय तरंगों का निर्माण करता है |

 भूकंप के कारण

  • प्लेट विवर्तनिक आंदोलन: विवर्तनिक बल तनाव और दबाव उत्पन्न करते हैं और पृथ्वी के अंदर  यह अविमुक्त ऊर्जा के रूप में एकत्र होना शुरू हो जाता है|  जब यह तनाव पृथ्वी के भीतर शैलो  की धारण क्षमता से अधिक हो जाता है तो  शैल भंग हो जाते हैं और संतुलन की स्थिति से विस्थापित हो जाते हैं|
  • ज्वालामुखी के विस्फोट:  कभी कभी ज्वालामुखी में  लावे का एक  निकास  द्वार अस्थाई रूप से बाधित हो जाता है और ज्वालामुखी  में  विस्फोट  होता है
  • अन्य कारण: भूमिगत गुफाओं की छत के गिरने,  आणविक  विस्फोट आदि से भी बहुत ऊर्जा निष्कासित होती है और भूपर्पटी में कंपन पैदा होते हैं|

भूकंप मुख्यतः दो प्रमुख पार्टियों में केंद्रित होते हैं:-

  • प्रशांत महासागर की परिधि वाली पट्टी में: इस पट्टी में विस्तृत प्रशांत महासागर के सभी तटीय क्षेत्र सम्मिलित हैं|  यह  क्षेत्र पृथ्वी की सतह पर आए सभी भूकंपों  के 68% के लिए उत्तरदाई है|
  • भूमध्य सागर एवं एशिया की भूकंप पट्टी:-  यह पट्टी आल्प्स पर्वत श्रृंखला से तुर्की,  काकेशस श्रृंखला,  ईरान, इराक,   हिमालय पर्वत,  तिब्बत और  चीन तक विस्तृत है|  विश्व के लगभग 31% भूकंप  इस पट्टी में होते हैं|
  • अन्य क्षेत्र: इस में उत्तरी अफ़्रीका एवं  लाल सागर एवं मृत सागरके भ्रंश घाटी  वाले क्षेत्र सम्मिलित हैं |  इसके अतिरिक्त महासागरीय कटक भी भूकंप  हेतु सक्रिय क्षेत्र है |

जोखिम कम करने के लिए उपचारात्मक उपाय:

  • इनके इनके होने की भविष्यवाणी हेतु पूर्व चेतावनी व्यवस्थाएं होना आवश्यक है|  इसके अलावा आपदा के प्रभाव को कम करने हेतु भूकंप जोखिम आकलन करना जिससे नियोजकों  को  भूकंप के जोखिम वाले क्षेत्रों को पहचानने मैं मदद  हो|
  • भूकंप के जोखिम वाले क्षेत्रों में भवनों का निर्माण भूकंप रोधी तकनीक से जिसमें मजबूती, कठोरता एवं लोच रहित विरूपण क्षमता हो|
  • नीतिगत फैसले जिनके अनुसार नए भवनों का निर्माण विशिष्ट प्राधिकरण की पूर्व अनुमति के बिना न हो सके|