दावोस में भारत (वैश्विक CEO सर्वे रिपोर्ट, ऑक्सफैम रिपोर्ट और एडलमैन ट्रस्ट बैरोमीटर रिपोर्ट) #89

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.

प्रश्न : कुछ महत्वपूर्ण  रिपोर्ट के माध्यम से समझाने का प्रयास करें कि भारत वैश्विक स्तर पर विश्व अर्थव्यवस्था में कौन-सा स्थान रखता है एवं इसमे कहां सुधार की आवश्यकता है? साथ ही ऑक्सफैम रिपोर्ट का भी हवाला  देते हुए कथन की पुष्टि करें

सामान्य अध्ययन -3

संदर्भ

वैश्विक सलाहकार कंपनी प्राइसवॉटरहाउस कूपर्स (Pricewaterhouse Coopers-PwC) की वैश्विक CEO सर्वे रिपोर्ट के अनुसार 2018 की तुलना में 2019 में वैश्विक आर्थिक वृद्धि की रफ्तार धीमी रहेगी। लेकिन इसी रिपोर्ट में भारत के लिये अच्छी खबर भी है…यूनाइटेड किंगडम को पीछे छोड़ते हुए भारत 2019 में दुनिया की पाँचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है।

पढ़ना जारी रखें “दावोस में भारत (वैश्विक CEO सर्वे रिपोर्ट, ऑक्सफैम रिपोर्ट और एडलमैन ट्रस्ट बैरोमीटर रिपोर्ट) #89”

गतिशील विदेश नीति से बढ़ी भारत की अहमियत #81

प्रश्न : भारत की विदेशों में बढ़ती अहमियत के पीछे  भारत की विदेश नीति बहुत हद तक जिम्मेदार है| ऐसे में वर्तमान में बहुत समस्याओं जैसे कि सिंगल विंडो, कर संबंधी सुधार ,ऊर्जा क्षेत्र की आवश्यकता आदि को मद्देनजर रखते हुए किन देशों के साथ भारत के समझौते किए गए हैं एवं इसके क्या परिणाम होंगे ?

संदर्भ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ समय पहले एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा था कि देश की विदेश नीति राष्ट्रीय हित से निर्देशित होती है और अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर भारत की आवाज़ सुनी जा रही है। भारत की विदेश नीति ऐसी है जिसमें वैश्विक संतुलन कायम रखते हुए सभी देशों से बेहतर संबंध बनाने पर ज़ोर दिया जाता है। भारत अन्य देशों के साथ समय-समय पर विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न मुद्दों पर समझौते करता रहता है। हाल ही में भारत ने अलग-अलग देशों के साथ अलग-अलग विषयों पर कुछ समझौते किये हैं।

पढ़ना जारी रखें “गतिशील विदेश नीति से बढ़ी भारत की अहमियत #81”

आर्थिक आधार पर मिलेगा 10% आरक्षण #79

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.

प्रश्न : आरक्षण के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण वाद का जिक्र करते हुए बताएं कि 124 वे संविधान संशोधन के अंतर्गत  किन मौलिक अधिकारों में बदलाव करके आर्थिक आधार पर 10% आरक्षण को देने की बात कही गई है | यदि यह विधेयक पास हो जाता है तो किन आधारों पर आरक्षण का लाभ उन लाभार्थियों को मिल सकेगा जिनकी आर्थिक स्थिति इतनी समृद्ध नहीं है ,जितनी होनी चाहिए| 

पढ़ना जारी रखें “आर्थिक आधार पर मिलेगा 10% आरक्षण #79”

अफगानिस्तान में बदलते हालात और भारत की चिंताएँ #76

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.

प्रश्न : पश्तो भाषा का शब्द ' तालिबान ' की उत्पत्ति का क्या कारण है ?इसने किस प्रकार अफगानिस्तान की सत्ता पर अपना प्रभाव बढ़ाया है ? तालिबान के इस प्रकार बढ़ते प्रभाव से भारत और अफगानिस्तान दोनों क्यू आशंकित हैं? विवेचना करें | 

हाल ही में रायसीना डायलॉग में हिस्सा लेने भारत दौरे पर आए ईरान के विदेश मंत्री जवाद ज़रीफ ने भारत और तालिबान के बीच मध्यस्थता की पेशकश की। ईरान का प्रस्ताव है कि यदि भारत चाहे तो वह तालिबान के साथ भारत की बातचीत शुरू करने में मदद कर सकता है। आज के हालातों में देखा जाए तो अफगानिस्तान में एक बार फिर तालिबान के मजबूत होने से सशंकित भारत के समक्ष यह एक अहम प्रस्ताव है।

पढ़ना जारी रखें “अफगानिस्तान में बदलते हालात और भारत की चिंताएँ #76”

तीन तलाक पर नया विधेयक लोकसभा में पारित #71

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.

प्रश्न :संसद के कामकाज के निपटान के लिए  बनाई जाने वाली संसदीय समितियां कौन कौन सी है|अभी हाल में ही मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2018  के संदर्भ में कुछ विपक्षी दलों ने इस विधेयक को संयुक्त स्थायी समिति को सौपने की मांग की है|संबन्धित विधेयक के महत्वपूर्ण प्रावधानों का जिक्र करते हुए बताएं यह किस प्रकार लैंगिक समानता को स्थापित कर सकेगा?

संदर्भ

सरकार ने तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) पर एक नया विधेयक दिसंबर 2018 को लोकसभा में पेश किया। इस विधेयक पर बहस हुई और विपक्ष के बहिष्कार के बाद लोकसभा ने इसे पारित कर दिया। इस विधेयक को मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2018 यानी Muslim Women (Protection of Rights on Marriage) Bill, 2018 नाम दिया गया है। इस विधेयक में मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक (Triple Talaq) से संरक्षण देने के साथ ऐसे मामलों में दंड का भी प्रावधान किया गया है। राज्यसभा से पारित होने के बाद ही यह विधेयक मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) अध्यादेश, 2018 का स्थान लेगा।

पढ़ना जारी रखें “तीन तलाक पर नया विधेयक लोकसभा में पारित #71”

भारत को मिला चाबहार बंदरगाह का परिचालन अधिकार #70

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.

प्रश्न :चाबहार डील क्या है? "शाहिद बहिश्ती" चाबहार डील से किस प्रकार संबंधित है ?इसका भारत के लिए क्या महत्व है ?चाबहार डील से पाकिस्तान पर किस प्रकार के प्रभाव होंगे? समीक्षा करें ?

सामान्य अध्ययन : पश्न पत्र 2

संदर्भ

ईरान स्थित चाबहार बंदरगाह पर कामकाज का नियंत्रण भारत को मिल गया है। चाबहार में 24 दिसंबर को ईरान-भारत और अफगानिस्तान के बीच हुई अधिकारी स्तर की त्रिपक्षीय बैठक में जल्द ही त्रिपक्षीय ट्रांजिट समझौते को भी लागू करने पर सहमति बनी। तीनों देश इसके लिये ट्रांजिट, सड़क, सीमा-शुल्क आदि मुद्दों पर तालमेल कर प्रोटोकॉल को अंतिम रूप देने पर सहमत हुए।

पढ़ना जारी रखें “भारत को मिला चाबहार बंदरगाह का परिचालन अधिकार #70”

सरोगेसी (विनियमन) विधेयक-2016 #67

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.

प्रश्न : सरोगेसी क्या है ?अभी हाल ही में लोकसभा द्वारा सरोगेसी (विनियमन) विधेयक को पास किया गया है|इस विधेयक के अंतर्गत महत्वपूर्ण प्रावधान की चर्चा करते हुए बताएं कि भारत क्यों सरोगेसी के मामले में ह्ब होता जा रहा है|यह भी बताएं कि न्यायालय ने सरोगेसी के संदर्भ  में किस प्रकार के निर्णय दिये है ?

चर्चा में क्यों?

दिसंबर 2018 को लोकसभा ने सरोगेसी (विनियमन) विधेयक-2016 पारित कर दिया। इस विधेयक में देश में कॉमर्शियल उद्देश्यों से जुड़ी सरोगेसी (Surrogacy) पर रोक लगाने, सरोगेसी का दुरुपयोग रोकने के साथ ही निस्संतान दंपतियों को संतान सुख की प्राप्ति सुनिश्चित करने के प्रावधान किये गए हैं।

क्या है सरोगेसी?

सरोगेसी का हिंदी में सीधा-सीधा अर्थ है- किराये की कोख। प्रजनन विज्ञान की प्रगति ने उन दंपतियों तथा अन्य लोगों के लिये प्राकृतिक रूप से संतान-सुख प्राप्त करना संभव बना दिया है, जिनकी किन्हीं कारणों से अपनी संतान नहीं हो सकती। इसी से ‘सरोगेट मदर’ की अवधारणा जन्मी है। सरोगेसी सहायक प्रजनन की एक विधि है। गर्भावधि सरोगेसी यानी Gestational Surrogacy इसका अधिक सामान्य रूप है। इस विधि में सरोगेट संतान आनुवंशिक तौर पर पिता और सरोगेट मां से संबंधित होती है। दूसरी ओर, IVF में सरोगेट संतान पूर्ण रूप से सामाजिक रूप से मान्य अभिभावकों (Traditional Surrogacy) से जुड़ी होती है।

पढ़ना जारी रखें “सरोगेसी (विनियमन) विधेयक-2016 #67”

खाद्य पदार्थों के लगातार गिरते दाम चिंता का कारण #64

प्रश्न : मुद्रास्फीति  और अपस्फीति क्या है? यह मांग और आपूर्ति से किस प्रकार संबंधित है?पिछले 2 वर्षों में लगातार खाद्य पदार्थ की वस्तुओं की कीमत में कमी के बावजूद बाजार में मांग और आपूर्ति पक्ष असंतुलित नहीं हो पा रही है? अतः इससे उबरने के क्या उपाय संभव हो सकते हैं?

सितंबर 2016 से नवंबर 2018 तक इन 27 महीनों में देश में उपभोक्ता खाद्य पदार्थों की मुद्रास्फीति की दर सामान्य मुद्रास्फीति की दर से लगातार कम बनी हुई है। बेशक महँगाई के मोर्चे पर सरकार के लिये यह राहत-भरी खबर है, लेकिन खाद्य पदार्थों की कीमतों में लगातार गिरावट ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिये निस्संदेह चिंता का एक बड़ा कारण है।

गौरतलब है कि इन 27 महीनों में से 5 महीने ऐसे रहे जब आधिकारिक उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में वार्षिक वृद्धि नकारात्मक रही। इसका अर्थ यह है कि हमें सब्जियों, दालों, चीनी या अंडे आदि के लिये एक साल पहले की तुलना में कम दाम चुकाने पड़ रहे हैं।

पढ़ना जारी रखें “खाद्य पदार्थों के लगातार गिरते दाम चिंता का कारण #64”

जीन एडिटिंग से संबंधित नैतिक चिंताएँ  #51

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.
प्रश्न :क्रिस्पर-कैस 9 क्या है? जीन एडिटिंग के किन-किन क्षेत्रो मे इसका अनुप्रयोग संभव है| इसके अनुप्रयोग मे कौन सी नैतिक चिंताए जन्म लेती है? 

हाल ही में एक चीनी शोधकर्त्ता ने दावा किया कि उसने इस महीने पैदा हुई दुनिया के पहले जेनेटिकली एडिटेड बच्चों (जुड़वाँ लड़कियों) को उत्पन्न करने में सफलता हासिल की। शोधकर्त्ता के अनुसार, उसने जुड़वाँ बच्चों के DNA को जीवन के महत्त्वपूर्ण लक्षणों को पुनर्संपादित करने में सक्षम, एक शक्तिशाली नए उपकरण के द्वारा परिवर्तित कर दिया है। हालाँकि, उसका यह दावा अभी भी सत्यापित नहीं है और इस दावे पर तमाम तरह से अनैतिक ठहराया जा रहा है। दरअसल, जीन पूल की विविधता के साथ किसी भी प्रकार के परिवर्तन के विनाशकारी परिणाम हो सकते हैं।

पढ़ना जारी रखें “जीन एडिटिंग से संबंधित नैतिक चिंताएँ  #51”

तापमान एक अदृश्य जलवायु जोखिम (invisible climate risk) # 44

Oracle IAS, the best coaching institute for UPSC/IAS/PCS preparation in Dehradun brings to you daily current affair.
प्रश्न : विश्व में जलवायु में बढ़ते तापमान से किस प्रकार की समस्या उत्पन्न होने की संभावनाएं ज्यादा है? इंडिया कुलिंग एक्शन प्लान क्या है एवं इसके क्या लक्ष्य है ? बढ़ते तापमान पर नियंत्रण करने के उपाय सुझाए |

जब हम जलवायु परिवर्तन की बात करते हैं, तो अक्सर इसमें पिघलने वाली बर्फ की चादरों और अत्यधिक सूखे की अवधियों को ही शामिल करते हैं। हालाँकि, इसका एक और पक्ष बढ़ता तापमान भी है। यह एक अदृश्य जलवायु जोखिम है जिससे विभिन्न समुदाय अभी तक अनजान हैं। दरअसल, बढ़ते तापमान की धीमी और क्रमिक प्रवृत्ति लोगों के जीवन, आजीविका और उत्पादकता को सीधे प्रभावित करती है। उल्लेखनीय है कि ज्यादातर संवेदशील लोग खुद को गर्मी से कैसे बचा सकते हैं, इसके बारे में उन्हें या तो सीमित जानकारी है या कोई जानकारी नहीं है। यहाँ तक कि राष्ट्रीय स्तर पर भारत कूलिंग एक्शन प्लान के माध्यम से राष्ट्रीय शीतलन रणनीति को लागू करने के सरकार के प्रयास को भी अपर्याप्त माना जा रहा है।

पढ़ना जारी रखें “तापमान एक अदृश्य जलवायु जोखिम (invisible climate risk) # 44”